Radha Ashtami 2019: राधा रानी जन्म कथा, राधाष्टमी पूजन व उद्यापन विधि और महत्व – AapnoJodhpur.com

Posted on 05/09/2019

Radha Ashtami 2019: Radha Ashtami, also known as Radha Jayanti, is celebrated to observe the birth anniversary of Goddess Radha, the consort of Lord Krishnaकृष्ण जन्माष्टमी के 15 दिन बाद राधा अष्‍टमी का पर्व भाद्रपद (Bhadrapada) शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इस साल, राधा अष्टमी का पर्व 6 सितंबर 2019 शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा। श्री राधाजी के जन्‍मोत्‍सव को मथुरावृंदावन और बरसाना में बड़ी धूमधाम और हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जाता है।

राधा अष्टमी (श्री राधाजी के प्राकट्य दिवस) के दिन राधा जी की पूजा करने का विधान है। माना जाता है इस दिन राधा जी की पूजा करने से मनुष्य को सभी सुखों की प्राप्ति होती है और जीवन की सभी परेशानियां समाप्त होती है। राधा अष्टमी के दिन राधा जी के साथ-साथ भगवान श्री कृष्ण की भी पूजा की जाती है। राधा जी और श्री कृष्ण के प्रेम को, एक आदर्श प्रेम के रूप में भी जाना जाता है।

ऐसा कहा जाता है कि जो राधा अष्टमी का व्रत नहीं रखता, उसे जन्माष्टमी व्रत का फल नहीं मिलता। आइए जानते हैं राधा अष्टमी का शुभ मुहूर्तराधा अष्टमी का महत्वराधा अष्टमी व्रत व उद्यापन विधिराधा रानी जन्म कथा के बारे में।

Read More on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply