जानिए श्रावण पुत्रदा एकादशी व्रत कथा, पूजा विधि और महत्व – AapnoJodhpur.com

Posted on 09/08/2019

Sawan Putrada Ekadashi

व्रतों में सर्वाधिक महत्वपूर्ण व्रत एकादशी का होता है। एकादशी का नियमित व्रत रखने से धन और आरोग्य की प्राप्ति होती है। श्रावण महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी कहा जाता है। मान्यता है कि यह एकादशी व्रत, संतान कामना को पूरा करने तथा संतान की समस्याओं के निवारण के लिए किया जाता है। जो लोग संतान हीन हैं उनके लिए यह व्रत काफी शुभ बताया गया है। इस साल पुत्रदा एकादशी का व्रत 11 अगस्त (रविवार) 2019 को रखा जाएगा।

श्रावण माह में शुक्ल पक्ष एकादशी को पुत्रदा एकदशीपवित्रोपना एकादशीपवित्रा एकादशी नाम से जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन जो व्यक्ति संतान प्राप्ति के लिए पूर्ण विधि-विधान व श्रृद्धा से पुत्रदा एकादशी का व्रत करता है, उसे भगवान श्री हरी विष्णु का आशिर्वाद मिलता है और जल्द ही संतान प्राप्ति हो जाती है। कहा गया है कि इस दिन व्रती को एकादशी कथा जरूर पढ़नी/सुननी चाहिए।

Read More on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply