मलमास में क्या करें क्या ना करें, क्यों एक माह नहीं होंगे शुभ कार्य? – AapnoJodhpur.com

Posted on 16/12/2018

Malmaas 2018

16 दिसंबर 2018 मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष की नवमी से मलमास शुरु हो जाएगा और 14 जनवरी 2019 पौष शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि तक रहेगा। मलमास को खरमास भी कहा जाता है। मलमास में जप, तप, तीर्थ यात्रा, कथा श्रवण का बड़ा महत्व होता है।

सूर्य 16 दिसम्बर 2018 रविवार को प्रातः 9ः05 बजे धनु राशि में प्रवेश करेंगे। धनु संक्रांती के साथ धनु (खर) मास आरम्भ होगा और सूर्य 14 जनवरी 2019 को सायं 08:00 बजे मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इसके साथ ही धनु (खर मास) की समाप्ति होगी।

मलमास के प्रतिनिधि आराध्य देव भगवान विष्णु हैं। इसलिए इस माह के दौरान भगवान विष्णु की पूजा नियमित रूप से करना चाहिए। इस मास में पड़ने वाली एकादशी तिथि को उपवास कर भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा कर उन्हें तुलसी के पत्तों के साथ भोग लगाने से समस्त सुखों की प्राप्ति होती है।

Read More for Malmaas on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply