Vivah Panchami 2018 महत्व: इसी दिन हुआ था भगवान श्रीराम और सीता माता का विवाह – AapnoJodhpur.com

Posted on 12/12/2018

Vivaah Panchmi 2018

Vivah Panchami 2018: भारत में कई स्थानों पर विवाह पंचमी को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। मार्गशीर्ष मास यानी अगहन महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी को भगवान श्री राम और जनकपुत्री जानकी जी का विवाह हुआ था। तभी से इस पंचमी को ‘विवाह पंचमी पर्व‘ के रूप में मनाया जाता है। Vivah Panchami 2018, 12 दिसंबर बुधवार को है।

भगवान राम को चेतना और मां सीता को प्रकृति का प्रतीक माना जाता है। ऐसे में दोनों का मिलन इस सृष्टि के लिए उत्तम माना जाता है। इस कारण इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है। ऐसी मान्यता है कि विवाह पंचमी के दिन खास मंत्रों का जाप करने से विवाह में आ रहे विघ्न समाप्त हो जाते हैं और शीघ्र विवाह का योग बनता है। यह त्यौहार नेपाल में विशेष रूप से मनाया जाता है क्योंकि सीता माता मिथिला नरेश राजा जनक की पुत्री थी।

राम सीता के विवाह के सालगिरह के कारण आज विवाह का शुभ दिन है। Vivah Panchami 2018 को चंद्रमा मकर राशि में रहेंगे। मकर का स्वामी ग्रह शनि है। श्रवण का स्वामी शनि है। इसका नक्षत्र मंडल में 22 वां स्थान है। इसमें राजा का राज्याभिषेक तथा विवाह संस्कार शुभ माने जाते हैं। सूर्य का वृश्चिक, चंद्र का मकर तथा इस दिन श्रवण नक्षत्र का होना बहुत ही शुभ है। आज कोई अभिजीत मुहूर्त नहीं मिलेगा। इस दिन विवाह करने से कन्या का सुहाग अखंड रहता है। राहु काल को छोड़कर पूरे दिन कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं।  

Read More on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply