Margashirsha Amavasya 2018: मार्गशीर्ष अमावास्या का महत्व, पूजा करने से दूर होता है पितृ दोष – AapnoJodhpur.com

Posted on 07/12/2018

Margashirsha Amavasya

Margashirsha Amavasya 2018मार्गशीर्ष अमावस्या को अगहन अमावस्या या श्राद्धादि अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है। मार्गशीर्ष महीने के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मार्गशीर्ष अमावस्या कहते हैं। मार्गशीर्ष माह में मां लक्ष्मी की खास पूजा होती है। Margashirsha Amavasya 2018, 7 दिसंबर को है। हिन्दू धर्म में अमावस्या का खास महत्व है। मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन पितरों के कार्य विशेष रूप से किए जाते हैं तथा यह दिन पूर्वजों के पूजन का दिन माना गया है।

जिस प्रकार पितृपक्ष की अमावस्या को सर्वपितृ अमावस्या के रूप में मनाया जाता है, ठीक उसी प्रकार कहा जाता हैं कि मार्गशीर्ष माह की अमावस्या के दिन पितरों के निमित्त व्रत रखने और जल से तर्पण करके सारे पितरों को प्रसन्न किया जा सकता हैं। पौराणिक शास्त्रों  के अनुसार इस दिन पूजा करने से पितृदोष का निवारण होता है और पूर्वजों का आशीर्वाद परिवार पर बना रहता है।

Read More on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply