Amla Navami 2018: आंवला (अक्षय) नवमी पूजा विधि, पौराणिक कथा व महत्‍व – AapnoJodhpur.com

Posted on 17/11/2018

Amla Navami 2018: कार्तिक मास  के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को आंवला नवमी मनाई जाती हैं। इसे बहुत से लोग अक्षय नवमी भी कहते हैं। इस दिन आंवले के पेड़ की पूजा की जाती है। इस बार (Amla Navami 2018) ये पर्व 17 नवंबरशनिवार को है। यह प्रकृति के प्रति आभार व्यक्त करने का भारतीय संस्कृति का पर्व है। मान्यता है कि इस दिन महिलाएं संतान प्राप्ति और उनकी मंगलकामना के लिए आंवले के पेड़ की पूजा करती हैं। मान्यता है कि इस दिन आंवले के पेड़ के नीचे बैठने और भोजन करने से रोगों का नाश होता है।

मान्यता है कि आंवला नवमी के दिन आंवले के वृक्ष में भगवान विष्णु एवं शिव जी का निवास होता है, यही वजह है कि इस दिन आंवले के पेड़ की पूजा करने का विधान है। ऐसा करने पर इंसान की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। एेसी मान्यता भी है कि इसी दिन से सतयुग का प्रारंभ हुआ था। आंवला नवमी को स्वर्ण, गांव तथा वस्त्र आदि दान देने से ब्रह्म हत्या जैसे महापाप से भी छुटकारा मिलता है।

Read More on AapnoJodhpur.com

Leave a Reply